Uncategorized

मौत का मौसम चल रहा है,,,,,

anam gour

आज कल सुना है मौत का मौसम चल रहा है,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

चारों तरफ ये क्या हो रहा है,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*कुछ लोगों ने सपने खोये तो कुछ लोगों ने अपने खो दिये,,,,,,,,,,,,,,

*क्या सोचा था क्या से क्या हो रहा है,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*इस दर्द भरी जिंदगी ने सबको क्या बना दिया है,,,,,,,,,,,,,,

*ये किस की हम सबको नजर लग गयी है,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*बड़ा ही अजीब ये साल चल रहा है,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*अपने ही अपनो से दूर हो रहे है,,,,,,,,,,,,,

*ये फ़िज़ा मै कैसा अँधेरा सा छा रहा है,,,,,,,,

*सुना है आज कल मौत का मौसम चल रहा है,,,,,,,,,,,,,,,,,

View original post

Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s