Uncategorized

चन्द्रमा की इच्छा …

Ashish Vision

उदारता का एक उदहारण ऐसा भी है।
सहायता का एक उदहारण ऐसा भी है।
मददगार की मदद करने की जब इच्छा हो …
तब न कोई छोटा , न कोई बड़ा होता है।
मदद करने वाले का दिल बड़ा होता है।

PC: Google

एक दफा की बात है
चन्द्रमा ने सूरज को मदद की पेशकश की।
चाँद ने कहा , “समय आने पर मैं आपकी मदद अवश्य करूँगा। “
सूरज ने पूछा , “कब ?”
चाँद ने बड़े उदार स्वर में कहा …
जब आपकी किरणों की रौशनी कम हो जाये ,
जब आपकी रौशनी से उजाला कम होने लगे।
तब आप मुझसे मेरी रौशनी ले लेना।
तब आप मुझसे मेरी रौशनी ले लेना।

Ashish Kumar

View original post

Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s